friendship shayari

एक पहचान हज़ारो दोस्त बना देती हैं, एक मुस्कान हज़ारो गम भुला देती हैं, ज़िंदगी के सफ़र मे संभाल कर चलना, एक ग़लती हज़ारो सपने जला कर राख देती है.

friendship shayari

न जाने सालों बाद कैसा समां होगा, हम सब दोस्तों में से कौन कहा होगा, फिर अगर मिलना होगा तो मिलेंगे ख्वाबों मे, जैसे सूखे गुलाब मिलते है किताबों मे.

1 2 3 239