Aadat Badal Doo Kaise Tere Intezaar Ki

Aadat Badal Doo Kaise Tere Intezaar Ki

आदत बदल दूँ कैसे तेरे इंतज़ार की,
ये बात अब नहीं मेरे इख़्तियार की,
देखा नहीं तुझको फिर भी याद कर लिया,
ऐसी बसी है खुशबू दिल में तेरे प्यार की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *