Aankhon Me Raha Dil Me Utar Kar Nahin Dekha

Aankhon Me Raha Dil Me Utar Kar Nahin Dekha

आँखों में रहा दिल में उतर कर नहीं देखा
कश्ती के मुसाफिर ने समंदर नहीं देखा
पत्थर मुझे कहता है मेरा चाहने वाला
मैं मोम हूँ उसने मुझे छू कर नहीं देखा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *